Website Backlink Kya Hai Or SEO Ke Liye Kitni Jaruri Hai -

वेबसाइट बॅकलिंक क्या है ओर SEO के लिए कितनी ज़रूरी है


Backlinks क्या है ओर ब्लॉग मे बेकलिंक क्या काम आते है ये सवाल मोस्ट इंपॉर्टेंट है. Backlinks search engine optimazation मे काम आते है ओर सर्च एंजिन से बेटर रिज़ल्ट पाने के लिए बेकलिंक बहुत ज़रूरी है. हर एक सक्सेस ब्लॉगगेर या वेबसाइट ओनर backlink पाने के लिए हर एक वे फॉलो करते है. आप SEO से तो वाक़िफ़ ही होंगे, अगर आप अपने ब्लॉग को सर्च रिज़ल्ट्स मे फर्स्ट पेज पर लाना चाहते है तो आपको अपने  ब्लॉग का SEO करना बहुत ही ज़रूरी है.

Backlink, SEO (search engine optimisation) मे इस्तेमाल होने वाला बहुत ही पॉपुलर शब्द है. Blogging मे सफल होने के लिए आपको सर्च एंजिन से अच्छा ट्राफिक मिलना ज़रूरी है ओर सर्च एंजिन से अच्छा ट्राफिक पाने के लिए आपको backlinks की ज़रूरत पड़ती है. सो backlink के बारे मे आपको पूरी जानकारी होनी चाहिए. जिस से आप एक दिन सफल ब्लॉगगेर बन सको. बहुत से नये bloggers को backlink के बारे मे जानकारी नही होती है. इस पोस्ट मे आपको ये बताऊंगा की backlink का क्या मतलब होता है. सबसे पहले में थोडा SEO के बारे में एक छोटा टॉपिक बताना चाहता हु. SEO के मुख्य 2 प्रकार होते है.

blogger backlink tips

1. On page SEO


On page SEO में  मे वे सभी चीज़ें आती है जोकि आप अपनी ब्लॉग पे SEO optimized आर्टिकल/पोस्ट लिखनी होती है.

2. Off page SEO


Off page SEO  मे वे सभी चीज़ें आती है जोकि आप अपने ब्लॉग के Social Media presence. सोशियल मीडीया प्रेज़ेन्स मे आपको अपने ब्लॉग ट्राफिक बढ़ाये. अब मैं आपको backlinks के बारे मे बतता हूँ. तो फिर आइए जानते है की backlinks क्या होते है और ये क्यों इंपॉर्टेंट है.

Backlinks Kya Hai? (बॅकलिंक क्या होते है?)


दोस्तों Backlinks वह लिंक होते है जोकि एक वेबसाइट किसी दूसरी वेबसाइट से प्राप्त करती है. जैसे की मान लेते है अगर मैं आपकी साइट का लिंक अपनी किसी पोस्ट या अपने ब्लॉग पर add करता हूँ तो इससे आपकी साइट को एक backlink प्राप्त होता है. मतलब साइट पर टोटल कितनी दुसरे साइट्स से विज़िटर्स आते है वो आपकी साइट के टोटल बॅकलिंक होते है. मेरा मतलब बॅकलिंक्स उन लिंक्स को कहते है जिन पर क्लिक कर के ऑडियेन्स दूसरी वेबसाइट या ब्लॉग से आपकी साइट पर आते है. उसे backlink कहते है.


बॅकलिंक्स से क्या फायदा होता है? (Backlinks Se Kya Fayda Hota Hai?)


बॅकलिंक्स आपके ब्लॉग के लिए बहुत ज़्यादा फायदेमंद होते है. आपकी साइट के जीतने ज़्यादा बॅकलिंक्स होते है गूगल आपकी साइट को सर्च रिज़ल्ट्स मे उतनी ही ज़्यादा वॅल्यू देता है. लेकिन गूगल आपके ब्लॉग को वॅल्यू तभी देता है जब आपके ब्लॉग के बॅकलिंक्स अच्छी साइट्स से होंगे.  अगर आप दूसरी साइट्स से लिंक पाते है तो आपका साइट सर्च रिज़ल्ट मे rank उपर होगा.

Backlinks आपकी साइट को crawl करने और आपकी साइट पर लिंक्स ढूंढने मे सर्च एंजिन bots की हेल्प करती है, नयी वेबसाइट के पोस्ट्स को जल्दी सर्च मे आने की लिए backlinks बहुत ज़रूरी है. जिस साइट्स पर आपके ब्लॉग का लिंक होगा, वहा से भी आपको अच्छे ट्रॅफिक मिल सकते है.

Backlinks का सबसे बड़ा फायदा है की इससे आपकी साइट का दूसरी साइट्स से रीलेशन बनेगा ओर आपको उनसे डाइरेक्ट ट्राफिक मिलेगा. यानी आपको दूसरी साइट से डाइरेक्ट backlinks मिलेगा.  EX: जैसे आपको hindigenius.blogspot.com/ से backlinks मिलेगा तो इसे रेफरल ट्राफिक कहते है. सर्च एंजिन मे टॉप रॅंकिंग के लिए ये बहुत इंपॉर्टेंट है ओर सर्च एंजिन रेफरल ट्राफिक को सबसे ज़्यादा पसंद करता है. इसलिए आप अपनी साइट की सर्च रॅंकिंग बढ़ाने के लिए दूसरे ब्लॉगगेर से अच्छे कॉंटॅक्ट बनाए ओर उनसे जुड़े रहने की कोशिश करे.

Backlinks से alexa ranking बढ़ती है ओर आपकी साइट की वॅल्यू बढ़ती है. अगर आपकी साइट alexa मे टॉप पर होगी तो आपकी साइट पर 65% विज़िटर्स तो आपकी साइट की रॅंकिंग देख कर विज़िट करना पसंद करेगे. आपकी साइट पर जीतने ज़्यादा backlinks होने आपकी साइट की alexa rank उतनी ज़्यादा इनक्रीस होगी.

Quality Backlink Kya Hote Hai? (What is Quality Backlink)


Quality Backlinks उसे कहते है अच्छे पेज रेंक बेस्ट डोमेन ऑथोरिटी से अच्छे पेज ऑथोरिटी से मिले उसे कहते हैं quality Backlinks. और सबसे अच्छा Quality Backlinks वो होता है जो गूगल मे इंडेक्स हो जाए. Quality Backlinks वे होते है जो आपको Quality साइट्स से प्राप्त होते है. जैसे की HindiGenius एक अच्छी साइट है और अगर आपको HindiGenius से backlink प्राप्त होता है तो गूगल आपकी साइट को ज़्यादा वॅल्यू देता है और आपके ब्लॉग को सर्च रिजल्ट मे High Ranking देता है.

Quality backlinks बनाने के लिए आपको relevancy का भी बहुत ध्यान रखना पड़ता है mtlab की अगर आपका ब्लॉग SEO से रिलेटेड है तो आपको SEO रिलेटेड ब्लॉग्स से ही backlinks प्राप्त करने होंगे, इसके बजाये अगर आप किसी Travel ब्लॉग से backlinks प्राप्त करते है तो गूगल ऐसे backlinks को ज़्यादा वॅल्यू नही देता.

बॅकलिंक्स 2 प्रकार की होती है (Types of Backlinks in Hindi)


1. Do-follow link: : जब साइट मे लिंक पर क्लिक करने से वो दूसरी विंडोस मे ओपन हो तो वो do follow लिंक्स होते है. Do-Follow लिंक जूस पास करने मे मदद करते है, यानी की ऐसे लिंक्स आपके ब्लॉग की रॅंकिंग को बढाने मे काफ़ी मददगार होते है. 

Example: “<a href=”http://lookhelper.com/”>lookhelper</a>”

डिफ़ॉल्ट रूप से सभी लिंक्स Do-Follow होते है, लेकिन अगर आप चाहते है की आप जो लिंक दूसरी साइट्स को दे रहे है उससे लिंक जूस पास न हो तो आप लिंक मे No-Follow attribute जोड़ सकते है.

2.No-follow link: किसी साइट पर एड आप की साइट के लिंक पर क्लिक करने से आपकी साइट उसी पेज मे खुले तो वो no-follow लिंक्स कहलाते है. ये वे backlinks होते है जोकि लिंक पास करने को allow नही करते, इनकी सर्च एंजिन मे वॅल्यू do-follow लिंक्स के मुक़ाबले कम होती है. सर्च एंजिन रॅंकिंग मे No-Follow लिंक्स का रोल नही होता है.

Example: “<a href=”http://lookhelper.com/” rel=”nofollow”>lookhelper</a>”

अगर आपकी साइट पर ऐसी साइट की लिंक add करने का मोका पड़े जिसपर कुछ ग़लत चीज़ है तो आप उसको नो-फॉलो कर सकते है.

अपनी साइट के बॅकलिंक कैसे प्राप्त करें? (Get Quality Backlinks in Hindi)


दोस्तों आपको पता चल गया होगा वेबसाइट पॉप्युलॅरिटी बढाने के लिए बॅकलिंक क्यो ज़रूरी होता, सबसे बड़ा फ़ायदा तो यहा हुमारे ब्लॉग वेबसाइट पर ट्राफिक बढ़ेगी ओर जीतने ज्यादा ब्लॉग पर ट्राफिक विज़िटर आएँगे साइट पर उतना ही इनकम बढ़ेगा. इसलिए अब आपके मन मे ये सवाल ज़रूर आया होगा की backlinks बनाने की शुरुआत कैसे करें. अपनी साइट के backlinks बनाने के लिए आप इन सिंपल ट्रिक का प्रयोग कर सकते है.

1. दुसरे ब्लॉग पर कमेंट करना शुरु करे (Other Blog Par Comment Shuru Kare)

Backlinks बनाने का ये फ्री और तरीका है, आपको बस ये करना है की अपने नीचे के दुसरे ब्लॉग्स पर रेगुलर कमेन्ट शुरू करें. जिन ब्लॉग्स पर कमेंट  enabled होता है उन पर कामेंटिंग करने से आपके ब्लॉग को do-follow backlink प्राप्त होता है जोकि आपके ब्लॉग के लिए बहुत ज़्यादा फायदेमंद होता है. लेकिन जिन ब्लॉग्स पर कामेंटिंग करने से आपको No-follow बॅकलिंक प्राप्त होता है वे भी आपके ब्लॉग के लिए हेल्पफुल होते है और  नए ब्लॉग के लिए कमेंट, ब्लॉग की faster Indexing में मदद करती है. Commenting करते वक़्त ये ध्यान रखें की आप स्पॅम आपका comment अप्रूव नही होगा.

हमेशा कॉमेंट्स की वैल्यू करने की कोशिश करें. यानी की ऐसे कॉमेंट्स को avoid करें- “super post!” “good post! आदि. ऐसे कॉमेंट्स स्पॅम कॉमेंट्स होते है, इन्हें avoid करें. पोस्ट को पढ़े फिर उसपर अपनी राई दे.

2. अच्छे कन्टेन्ट लिखे (Quality Content Likhe)

Search engine भी उस ब्लॉग को प्राथमिकता देते है जिसमे अच्छी quality का content मौजुद्  हो. इसलिए जन्हा तक संभव हो जो भी आप अपने blog पर लिखते है वो आपकी अपनी प्रेरणा से हो और किसी और अन्य स्त्रोत पर वो content पहले से मौजूद नहीं हो. अगर आप अपने ब्लॉग के लिए ज़्यादा से ज़्यादा backlinks बनाना चाहते है तो इसके लिए आपको अपने ब्लॉग पर quality content लिखना होगा. पोस्ट बिल्कुल सिंपल भाषा मे, तो थे पॉइंट और विस्तार से होनी चाहिए. यानी की आपको ऐसे आर्टिकल्स लिखने होंगे जिसे आपके रीडर्स आसानी से समझ सकें और वह आर्टिकल उनकी म्ड्ड कर सके. हाइ क्वालिटी कॉंटेंट लिखने से दुसरे bloggers आपके आर्टिकल के लिंक को अपने रीडर्स की हेल्प करने के लिए पोस्ट मे add कर सकते है. 

3. गेस्ट पोस्ट करें (Guest Post Shuru Kare)

Quality Backlinks बढाने मे गेस्ट ब्लोगिंग बहुत ज़्यादा प्रभावी होती है. इसमें आपको अपने नीचे के कुछ पॉपुलर ब्लॉग्स पर अपनी गेस्ट पोस्ट सबमिट करनी है और साथ ही अपने ब्लॉग का एक लिंक भी ऐड करनी है.

4. ब्लॉग को वेब डिरेक्टरी मे सबमिट करे (Blog Ko Web Directory Me Submit Kare)

आप अपने ब्लॉग को अच्छे वेब डिरेक्टरी मे सबमिट करके आसानी से बॅकलिंक पा सकते है. लेकिन ये ध्यान रखे की अपने ब्लॉग को अच्छी वेब डिरेक्टरी में ही सबमिट करे.

बॅकलिंक बनाते समय इन बातों का ध्यान रखें (Backlinks Banate Samay Dhyan Rakhe)


बॅकलिंक हमेशा किसी क्वालिटी, हाइ रॅंकिंग साइट से ही बनाए. क्योकि लो रॅंकिंग साइट्स के बॅकलिंक से आपको कोई खास फायदा नही होगा. अगर आप ग़लत तरीकों का प्रयोग करके बॅकलिंक्स बनाएँगे तो ये आपकी साइट के लिए बहुत ज़्यादा नुक़सानदायक हो सकते है. इसलिए अपनी साइट के लिए बॅकलिंक्स बनाते समय ध्यान अवश्य रखें.

जिस साइट्स से आप बॅकलिंक पाना चाहते है, वह साइट relevant होना चाहिए. मतलब की अगर आपका साइट Blogger से रिलेटेड है तो आपको किसी Blogger वाले साइट्स से बॅकलिंक पाना चाहिए. जितना हो सके उतना पैड बॅकलिंक न खरीदें. लो क्वालिटी साइट्स या स्पामी साइट्स से बॅकलिंक प्राप्त करने को बंध करे. एक साथ बहुत सारे बॅकलिंक्स न बनाए क्युकी इससे गूगले को शक हो सकता है और वो आपकी साइट को पेनलाइज़ कर सकता है.

दोस्तों आपको Backlink के बारे में पता चल गया होगा, अगर आपको इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल पूछना हो तो नीचे comment कर सकते है.  अगर आपको हमारे ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे.

0/Post a Comment/Comments